भ्रष्ट आबकारी अधिकारी अधिकारी की साझेदारी में बिक रही है अवैध शराब -बघेल

स्पष्ट हो चुका है की व्यवस्था ठेकेदार की जेब में हैसतना – हमारी सारी सरकारी व्यवस्था कानून का डंडा लेकर गरीबों को सताने के लिए ही है, आदर्शों व नियमों की बात करने वाले अधिकारी माफियाओं की का नाम आते ही भीगी बिल्ली बन जाते हैं । लॉकडाउन में लाइसेंसी सील दुकानों से शराब का बिकना इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है , हमारे मीडिया के साथी व्यवस्था के प्रति प्रतिदिन प्रमाण भी दे रहे हैं, लेकिन जिम्मेदारों पर कोई कार्यवाही न कर व्यवस्था स्वयं यह प्रमाणित करती है कि वह शराब ठेकेदारों की जेब में है उक्त बात भाजपा नेता सिंधिया फैंस क्लब के महामंत्री शिवभानु सिंह बघेल “त्योधंरी” ने कही । उन्होंने कहा कि पूरे जिले मैं ठेकेदार द्वारा अवैध रूप से शराब बेची जा रही है जिसका राजस्व शासन को नहीं ठेकेदारों व भ्रष्ट व्यवस्थाओं को मिल रहा है भ्रष्ट आबकारी अधिकारी बी.एस सोलंकी पूरी तरह ठेकेदारों के भागीदार बन कर काम कर रहे हैं । जब जिला मुख्यालय की लाइसेंसी दुकानों से शराब बेची जा रही है तो कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों की कहानी को समझा जा सकता है ।बघेल ने कहा कि शासन की इस राजस्व चोरी व भ्रष्टाचार पर प्रभारी मंत्री व कमिश्नर राजस्व का मौन रहना यह दर्शाता है कि ठेकेदार और व्यवस्था के ऊपर उनका संरक्षण है । अगर ऐसा नहीं है तो यह जांच होनी चाहिए कि जब दुकानों को सील किया गया तो शराब का कितना स्टॉक था और आज कितना स्टाक है । उन्होंने कहा कि आज प्रभारी मंत्री को गृह क्लेश मंत्री के रूप में याद किया जा रहा है ,संकट के बीच शराबी ऊंची कीमत पर शराब खरीदकर घरेलू अर्थव्यवस्था को बिगाड़ ही रहे हैं घर की शांति के दुश्मन भी बन रहे हैं

Create your website with WordPress.com
प्रारंभ करें